Saturday, January 9, 2010

पंचकर्म से संभव है सोरायसिस का उपचार







प्राय सोरायसिस के रोगी अपने इस रोग को आम दाद-खाज खुजली के रोग से जोड़कर लंबे समय तक इसका उपचार कराने से कतराते रहते हैं। जिसका परिणाम यह होता है कि जब यह रोग काफी पुराना तथा जटिल हो जाता है तब रोगी इसके इलाज के लिए चिंतित होता है। रोग के संदर्भ में विशेष बात यह ध्यान देने योग्य है कि रोग जितना पुराना हो जाता है उसके उपचार में उतना ही समय लगता है। -डा. देवाशीष पांडा

यह लेख डा. देवाशीष पांडा से की गई बातचीत पर आधारित है। द्वीपांतर परिवार उनका आभारी है कि उन्होंने अपनी व्यस्त दिनचर्या में से समय निकालकर हमें इस लेख के लिए सहयोग दिया

मिथ्या आहार-विहार के कारण वर्तमान समय में त्वचा संबंधी विकार बढ़ रहे हैं। डा. देवाशीष पांडा के अनुसार सामान्यत त्वचा से संबंधित यह विकार उचित खान-पान तथा औषधियों से ठीक हो जाते हैं, लेकिन कुछ त्वचा रोग ऐसे भी होते हैं जिनकी चिकित्सा जटिल होती है। त्वचा से संबंधित एक ऐसा ही रोग है सोरायसिस। एक अनुमान के मुताबिक सोरायसिस के रोगी संपूर्ण विश्व में ही मिलते हैं। सकल विश्व की कुल जनसंख्या का अनुमानत 1 प्रतिशत हिस्सा सोरायसिस रोग से पीड़ित हैं। इस आधार पर माना जा सकता है कि हमारे देश में भी जनसंख्या का लगभग 1 प्रतिशत भाग इस रोग से जूझ है।

क्या है सोरायसिस
मनुष्य की सामान्य त्वचा पर सोरायसिस रोग पपड़ीदार, रक्तिम;रक्तवर्णितद्ध वह विकार है जो चकतों के रूप में अलग से उभरे होते हैं। यह कुछ-कुछ मछली की उपरी खाल की तरह होते हैं। यह चकते प्राय हाथ-पैर, घुटनों, कोहनी, सिर के बालों के नीचे और पीठ के निचले हिस्सों पर देखने को मिलते हैं। इन चकतों का आकार मुख्यत 2-4 मिमि से लेकर कुछ सेमी तक हो सकता है, जिनमें खुजली की शिकायत भी रोगी को होती है। डाक्टर देवाशीष पांडा के अनुसार आयुर्वेद में इस रोग को एककुष्ठ कहा जाता है। यह रोग सामान्यतया शरीर में हो जाने वाली दाद-खाज से भिन्न प्रकृति का है। जहां दाद-खाज का घरेलू उपचार संभव है वहीं सोरायसिस के रोगी को चिकित्सकीय उपचार की परम आवश्यकता होती है। उपयुक्त उपचार के अभाव में रोगी के प्राणों पर भी संकट उत्पन्न हो सकता है।

रोग होने के कारण




रोग होने के कारणसोरायसिस रोग कभी भी किसी को भी हो सकता है। हालांकि, अभी तक इस रोग के संदर्भ में हुए अनुसंधन से यह स्पष्ट रूप से विदित नहीं हो सका है कि सोरायसिस रोग के उत्पन्न होने का प्रमुख कारण क्या हैं, परंतु प्रत्येक 10 रोगियों में से एक को यह वंशानुगत रूप से मिला होता है। इसलिए इसे जेनेटिक या विरासत में मिला हुआ रोग भी माना जा सकता है। कुछ लोग इसे भूलवश छूत की बिमारी मानते हैं, लेकिन यह रोग छूने से नहीं फैलता है।

सोरायसिस के प्रमुख लक्षण



सोरायसिस रोग से पीढ़ित व्यक्ति की त्वचा सूजी हुई, पपड़ीदार, रुखी-सूखी चकतों में विभक्त दिखाई देती है। यह चकते रक्तिमवर्ण लिए होते हैं जिनमें खुजली होती रहती है। यह रोग बड़ी तेजी के साथ शरीर पर फैलता है। सोरायसिस रोग किसी को, कभी हो सकता है परंतु युवास्था में इस रोग के होने की संभावना अधिक होती है । डाक्टर देवाशीष पांडा के अनुसार सोरायसिस रोग की प्रकृति रितुओं से भी प्रभावित होती है। गर्मियों की अपेक्षा सर्दियों में सोरायसिस बढ़ जाता है

सोरायसिस की चिकित्सा



सोरायसिस का उपचार यदि न कराया जाए तो यह रोग आसाध्य तक हो जाता है। डाक्टर देवाशीष पांडा का कहना है कि कि आर्युवेद में पंचकर्मा पद्वति से सोरायसिस का सफल इलाज संभव है। जिसके अंतर्गत औषिधि युक्त घृत-घी से वमन तथा तकधारा करायी जाती है। इस पद्वति के तहत उपचार के लिए मरीज को 8-10 दिन के लिए अस्पताल में भर्ती होना पड़ता है तत्पश्चात मरीज घर पर ही इस रोग की दवा लेता रहता है।

52 comments:

chopal said...

साहित्यिक और सामाजिक लेखों से इतर आपके द्वारा प्रकाशित यह लेख सोरायसिस से पीड़ित रोगियों के लिए लाभदायक सिद्ध होगा। डा. पांडा से आयुर्वेद से संबंधित और लेखों की अपेक्षा रहेगी।

Simran said...

अच्छी जानकारी दी है डा. देवाशीष पांडा ने।

kamal said...

चिकित्सा से संबंधित लेख द्वारा नवीन जानकारी देने के लिए धन्यवाद।

Ranbir said...

लाभदायक लेख। बधाई स्वीकारें।

Ranbir Gupta said...

article accha hai

Saurabh Goel said...

soraises ki jankari acchi hai

accha laga

Raima Rastogi said...

soraises ke bare mai accha likha hai
padkar accha laga

UmeshKumar said...

articla accha hai soraises ke barey mai accha likha hai...

lokendra singh rajput said...

अच्छी, लाभदायक जानकारी देने के लिए धन्यवाद।

वन्दना said...

labhdayak jankari........shukriya.

मनोज कुमार said...

अच्छी जानकारी। धन्यवाद।

हास्यफुहार said...

एक अच्छी जानकारी देने के लिए धन्यवाद।

रचना दीक्षित said...

एक अच्छी पोस्ट जागरूकता की द्रष्टि से

saraswatlok said...

लाभदायक लेख। बधाई स्वीकारें।

Anjali Khanna said...

यह लेख सोरायसिस से पीड़ित रोगियों के लिए लाभदायक सिद्ध होगा।

RohitSharma said...

अच्छी जानकारी।

PrakashKhatri said...

useful artical........

हर्षिता said...

अच्छी जानकारी दी आपने धन्यवाद।

ज्योति सिंह said...

sahi margdarshan karati hui aapki ye post ,chopal ji ki baat se sahmat bhi hoon barabar .

अनामिका की सदाये...... said...

ab tak is rog ki koi jankari nahi thi.bahut bahut shukriya jo iske baare me detail me bataya..aur shukriya aapke rev.ka jiske thru aap tak pahucha ja saka.

शाश्वती said...

बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारी .चोपाल जी की राय पर विचार करें .हमारी भी माने .

kappu said...

kya ye bimari saari jindgi bhar rahti hai please jawab de.

Unknown said...

मुझे सोरायसिस है 13 साल से मैं कहां ईलाज कराऊं

Mahesh padaya said...

Here are good information of psoriasis.

Mahesh padaya said...

Here are good information of psoriasis.

satyam said...

sir plzzzzzzz.....doctor sahab ka addres post kijiye...mai bahut paresan hu is rog se ......
...sayad aapke blog se hame jeevan mil jaye...09935774548

Dilip Kumar Mishra said...

इतनी अच्छी जानकारी के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद................

krishna verma said...

Khya me is bimari se chutkara pa sakta hu or me ilag ke le khya karu aap mugha bataye &kon sa aahar khana se yeh bimari thick ho dakti hai kripaya bataya

krishna verma said...

Aap apna address post kare is pata par Name Narayan kumar verma Rampur Basti P .O Amtala ,Hojai.DtNagoan Assam Pin:-782435 (M) No:-09854935317,9864551218

krishna verma said...

Khya me is bimari se chutkara pa sakta hu or me ilag ke le khya karu aap mugha bataye &kon sa aahar khana se yeh bimari thick ho dakti hai kripaya bataya

Lokesh said...

देशी गाय का ताजा गौमुत्र सुभह खाली पेट ले , लेने के बाद १ घन्टा कूच भी न खाये....
गाय देशी होनी चाहिये और वो गामण (Pregnant) नही होनी चाहिये ....
२०-२५ दिन मे सोरायसिस अच्छा हो जायेगा... Because Gaumutra Contents Sulpher and other elements.
Sulpher(गन्धक) कि कमतरता के कारण सोरायसिस / स्किन कि बिमारीया होती है

Rameshchandra Patel said...

बहुत अच्छा, धन्यवाद

Dnyaneshwar Adhane said...

Thank you

Dnyaneshwar Adhane said...

Thank you

BRIGHT STAR WEB SOLUTIONS said...

hello dosto, mujhe सोरायसिस ki bimari hai...pls iska ilaj(treatment) batayen--9250688079

Prakash Gehlot said...

Mene rajasthan aayurded hospital karwar jodhpur se psoraisis ka ilaj karwaya 3mahine ke ilaj ka kharcha 7000 aaya aaj mai bilkul thik hun

pavan sikhwal said...

prakash ji jodhpur m kaha se karaya apne ilaj plz apka no do ya muje app call karo muje b ilaj karana h 09030393986 agar koi garunte leta h to plz muje call kariye

santosh kumar said...

Please prakash ji mujhe bhi wo jagah bataye.please mera phone no-8829934894,please mujhe ilaj karana hai

skanchan said...

सोरायसिस के लिए प्राणायम करे, काफि कम होत जाता है, अौर सुवर्ण भस्म, अभ्रक भस्म, का इस्तेमाल कर सकते है इससे जल्द ही ठीक हो जाएगा
मो. 9850276780

Unknown said...

सर मुझे भी 5 साल से सोरायसिस है इसका आयुर्वेदिव उपचार बता दीजिये ताकि मे इस रोग से मुक्त हो सकु
मोबाइल नंबर 9560954313
Email, Vikrant.Kumar095@gmail.com

VIKRANT KUMAR said...

सर मुझे भी 5 साल से सोरायसिस है इसका आयुर्वेदिव उपचार बता दीजिये ताकि मे इस रोग से मुक्त हो सकु
मोबाइल नंबर 9560954313
Email, Vikrant.Kumar095@gmail.com

Shaikhe Rafeeq said...

Good job

Raj Karwasra said...
This comment has been removed by the author.
Raj Karwasra said...

Sir please tell me the Ayurvedic medicine for psoriasis or suggest me any Dr. . I am suffering from this disease from 3 years.my contact number: 7732853836

Raj Karwasra said...

Sir please tell me the Ayurvedic medicine for psoriasis or suggest me any Dr. . I am suffering from this disease from 3 years.my contact number: 7832853836

Raj Karwasra said...

Prakash Ji , please aap un Doctor Ji ka address or name pta mujhe mail kar dijiye mujhe bhi treatment Lena h. Pls jrur send karna main aapka aabhari rhunga.

Raj Karwasra said...

Mera email address : bishnoiraj@ymail.com

Pawan Kumar Shakya said...

Kya psoriasis ko jad se khatm kiya ja skta h ....please tell me or kitna time lagega ....my contact number is 8959147086

Unknown said...

सर जी पता और फोन नं० बताईए मे 8 साल से सोरायसिस से पीड़ित हूँ

Sonu Saxena said...

सर जी पता और फोन नं० बताईए मे 8 साल से सोरायसिस से पीड़ित हूँ

Sonu Saxena said...

सर जी पता और फोन नं० बताईए मे 8 साल से सोरायसिस से पीड़ित हूँ

Unknown said...

Sir please tell me the Ayurvedic medicine for psoriasis or suggest me any Dr. . I am suffering from this disease from 5 years.my contact number: 8126508265